उसका नाम - राहुल गर्ग

उसका नाम     राहुल गर्ग     ग़ज़ल     प्यार-महोब्बत     2022-07-03 23:18:31         34428           

उसका नाम

संमुदर पायाब हो गये और नदियाँ उफान पर
है
पर अभी तक उसका नाम मेरी जबान पर है 
उसने अपने तरकस के सारे तीर छोड़ दिये
मुझ पर 
पर मेरे तीर अभी भी मेरी कमान पर है 
कोशिशें बहुत की इक दिन भुला दूंगा उसे
पर उसके लिए दुआ अभी भी मेरी अज़ान पर है
अपना सारा वक़्त देकर मैने जिसकी
खुशामद की 
पता चला कि उसकी खुशी तो मेरे समान पर है

Related Articles

व्यंग्य-कथाः
virendra kumar dewangan
मुझ अभागे के घर जब बेटा पैदा हुआ, तब मैं खुशी से झूम उठा। जश्न मनाया; मिठाइयां बांटा; फटाखे फोड़ा। वक्त गुजरता गया और
3410
Date:
03-07-2022
Time:
23:26
अल्फ़ाज़-ए-धरा
Trishika Srivastava
(1). सच कहा था तुमने कि इस जहाँ में सारे पत्थर हैं किसी को ज़ियादा अहमियत दो तो आंकते ख़ुद से कमतर हैं (2). ज़रा महसूस तो कर
16295
Date:
03-07-2022
Time:
23:15
मेरे इश्क़
Kainat fatma
मेरा इश्क़ अब भी गिरवी हैं उसके पास उसे पास उसे कह दो यादों से आज़ाद करदे हमे।।
12287
Date:
03-07-2022
Time:
23:38
Please login your account to post comment here!