स्टोरेज भरना चाहता हूँ - आकाश अगम

स्टोरेज भरना चाहता हूँ     आकाश अगम     ग़ज़ल     प्यार-महोब्बत     2021-09-22 11:51:38     #स्टोरेज भरना चाहता हूँ #ग़ज़ल #Ghajal #हिंदी कविता #poetry #आकाश अगम #Akash Agam     15083        
स्टोरेज भरना चाहता हूँ

 मुझे चद्दर ओढ़ाने को तुम आओ
खुली छत पर ठिठुरना चाहता हूँ।।

बहुत कर लीं हैं बातें बैठ पर अब
तुम्हें  बाहों  में भरना चाहता हूँ।।

करो तुम प्यार का इज़हार शायद
मैं अब कुछ देर मरना चाहता हूँ।।

फ़क़त  तस्वीर  तेरी फोन  में  हो
मैं अब स्टोरेज भरना चाहता हूँ।।

मैं अब शायद उजड़ जाऊँ बिखर कर
मैं  मन भर  कर  सँवरना  चाहता हूँ।।

Related Articles

जन्माष्टमी
जन्माष्टमी

हे नाथ आप है महान 🙏🙏 आपकी महिमा हैं अपरम्पार आप हैं हमेशा अपनें भक्तो के साथ । आप लीला भी कियें मनमोहक छ

हमें तो आदत है गम में रहने की
हमें तो आदत है गम में रहने की

हमें तो आदत है गमों में रहने की, रोते हुए भी मुस्कुराने की।

* इल्तिजा *
* इल्तिजा *

* इल्तिजा * मैं जानता हूं कि तुम मुझे, एक दिन हमेशा-हमेशा के लिए, अकेला छोड़ कर चली जाओगी इंतजार कर रहा है तुम्हार


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group