Jal- kal - Girjesh Choudhary

Jal- kal     Girjesh Choudhary     ग़ज़ल     समाजिक     2021-09-22 10:52:31     World shortest gazal, gazal     11933        
Jal- kal

जल,
कल |

तज,
छल |

पथ,
फल |

रण,
हल |

शक,
मल |

उठ,
चल |

सच,
बल |

लत,
खल |

धन,
पल |

Related Articles

राजेश
राजेश

एक बार रामनिवास शेख चिल्ली अपने मित्र के साथ जंगल में लकड़ियाँ कांटने गए। एक बड़ा सा पेड़ देख कर वह दोनों दोस्त उस पर

मां पीपल की छांव
मां पीपल की छांव

मां शीतल की गंगा है, मां पीपल की छांव है,, मां का दूध बड़ा अनमोल, जिसका यहां ना कोई तोल,, मां की

अगर तुम ना हो
अगर तुम ना हो

अगर तुम ना हो जानेमन, नूरे जवीं_मासूम कली, दिल के जहां में, खामोशी का राज हो जाता है। तेरी यादों के सहारे तो मन लगान


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group