विश्वास का फूल - Shubhashini singh

विश्वास का फूल     Shubhashini singh     कविताएँ     अन्य     2022-08-14 09:42:39     Google /Yahoo/Bing /instagram/Facebook/twitter     20428           

विश्वास का फूल

विश्वास का फूल
ये वो फूल है 
जो एक बार दिलो में खिल जाए तो सारी 
बगिया महक जाए
विश्वास का फूल 
ये वो फूल है 
जो जल्दी किसी बगिया में ना खिल पाए
विश्वास का फूल 
ये वो फूल है
जो आज के दौर में मिलना मुश्किल हो जाए....

Related Articles

मैं सैनिक हूँ
Rupesh Singh Lostom
मैं सैनिक हूँ देश के रक्क्षक मैं सैनिक हूँ मैं देश की सुरक्क्षा करता हूँ सरहद के निगहबानी करता हूँ मेरे भी अपने
3656
Date:
14-08-2022
Time:
18:13
सारा संसार को
Rupesh Singh Lostom
स्थिति और परिस्थिति समान सी है दुःख के अवधि आश्मान सा है अक्सर लोग सुख के कामना करते है पर कौन जानता सुख के आयु मुस
3121
Date:
14-08-2022
Time:
17:25
Writer by Iqrar Ali, मोहब्बत शायरी दिल तोड़
Iqrar Ali (आई क्यों )
लोग गुनाह छुप कर करते है लेकिन हफ्ते में एक दिन 2रिकात नमाज पढ़ने के लिए पूरा बस्ती शोर मचाते आते है।
74182
Date:
14-08-2022
Time:
18:45
Please login your account to post comment here!