हिन्द मेरा - इस देश मे रहने वालों को में आज यही बतलाऊँगा - Shyam gujjar

हिन्द मेरा - इस देश मे रहने वालों को में आज यही बतलाऊँगा     Shyam gujjar     कविताएँ     देश-प्रेम     2021-09-22 10:50:48     हिन्द मेरा     9894        
हिन्द मेरा - इस देश मे रहने वालों को में आज यही बतलाऊँगा

इस देश मे रहने वालों को 
में आज यही बतलाऊँगा
बदलेगा एक दिन हिन्द मेरा 
ये तुम सबको दिखलाऊँगा....2
 
इस देश की धरती सोना उगले
आज वही बंजर दिखती 
में अपना खून बहाकर के
इस भूमि को उप जाऊँगा
बदलेगा एक दिन हिन्द मेरा 
ये तुम सबको दिखलाऊँगा....2

इस माँ की पावन भूमि पर
गद्दारो का कोई काम नही
दिखा अगर गद्दार यहाँ तो 
तो उसका जीवन दान नहीं
में आज यही बतलाऊँगा
बदलेगा एक दिन हिन्द मेरा 
ये तुम सबको दिखलाऊँगा....2

उन गुरुजन का सम्मान करो 
जिनने चलने का मार्ग दिया 
सेवा करो उन पिता मात की 
जिन्होंने तुम्हें ये अधिकार दिया
में आज यही बतलाऊँगा
बदलेगा एक दिन हिन्द मेरा 
ये तुम सबको दिखलाऊँगा....2

यहाँ एक तिरंगा तीन रंग 
और 24 सिक निराली है
में उसका अर्थ बताऊँगा
बदलेगा एक दिन हिन्द मेरा 
ये तुम सबको दिखलाऊँगा....2

पहला रंग केसरिया हैं
जो विजय भाव दिखलाता हैं
दूजा रंग हैं सफेद मेरा जो
शान्ति धर्म निभाता हैं 
तीजा रंग हैं हरा मेरा जो
विकास की ओर बढ़ाता हैं
में आज यही बतलाऊँगा
बदलेगा एक दिन हिन्द मेरा 
ये तुम सबको दिखलाऊँगा....2

         जय हिंद जय भारत
          लेखक  श्याम 
         Contact num 8595502670





Related Articles

जीवन एक संघर्ष।
जीवन एक संघर्ष।

जीवन एक संघर्ष। मेहनत करो तो अर्श। ना करो तो फर्श। दोनों का सामना करो तोगर्व। जीवन में कुछ नया करो। अलग करो कुछ अ

जीना इसी का नाम है.........😃😃
जीना इसी का नाम है.........😃😃

जीना इसी का नाम है.........😃😃 मेघा एक सरकारी दफ्तर में टाइपिस्ट थी । उसके हाथों की उंगलियां जब कंप्यूटर के "की बोर

धूप और मेघ की लड़ाई
धूप और मेघ की लड़ाई

एक बार मेघ आ रही है, तो एक बार धूप आ रहा है। यह आंख_मिचौली का खेल, सुबह से चल रहा है। मुझे लगता आज दोनों में ठनी है, एक द


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group