Saroj - सरोज कसवां

Saroj     सरोज कसवां     कहानियाँ     बाल-साहित्य     2022-05-25 00:58:29     शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं !!💐💐     52037           

Saroj

शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं !!💐💐

वर्तमान में ट्रेंड चल रहा है कि 10 वर्ष से लेकर युवावस्था तक के बहुत सारे युवा गैंगस्टर टाइप विडियोज देखते है, 
उनकी लाइफस्टाइल को फॉलो करते है। 

काट दयाँगे,फाड़ दयाँगे,बहम काड दयाँगे वगैरा वगैरा तरह की भाषा शैली का प्रयोग करते है।

पढ़ाई से कोसो दूर,फर्जी अलटपू टाइप के गाँजेडीयो की संगत,
गैंगस्टर्स को आदर्श रूप में मानना और नशेड़ियों के साथ बाइक पर घूमना उनके शौक में शुमार है।

खुद को हरयाणवी या पंजाबी गानों के विलेन की तरह प्रस्तुत करना, ये सब वो अपने निजी जीवन में अपना रहे है।

अगर आप चाहते हैं कि एक सुसभ्य और सुसंस्कृत समाज का निर्माण हो तो इस तरह की प्रजाति को पनपने ना दे,
उगते हुए पौधे को जड़ से उखाड़ फेंके ताकि बीज ना पनपने पाए।

इस पुनीत कार्य में पुलिस और प्रशासनिक व्यवस्था से जुड़े मित्र अपना बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे तो सकारात्मक परिणाम आने की अपार संभावनाएं हैं।

Related Articles

कल मेरे बाद मुझे ही याद करोगी
जितेन्द्र जय
कल खुद ही तुम खुद से फरियाद करोगी, देखोगी आईना जब मुझे ही याद करोगी। आज हूँ मैं तेरा तो मेरी कद्र नहीं है, कल मेरे बा
4494
Date:
25-05-2022
Time:
00:49
बिसरी डगर
Santosh kumar koli
कच्ची मिट्टी, कच्ची चुनाई, घर थे कच्चे। जुड़ाव था मिट्टी से, रिश्ते थे सच्चे। रिश्तों को निभाते नहीं, जीते थे। रिश्
22411
Date:
25-05-2022
Time:
00:44
उदास मन
रजनीश राज
जब भी लगे हम उदास है तो बिते अच्छे दिन को याद कर लिया करो शान्ति का अनुभव होगा|
3305
Date:
25-05-2022
Time:
00:50
Please login your account to post comment here!