Vipin Bansal

Vipin Bansal

K-22/7A, Street No.10, West Ghonda, Gangotri Vihar, Delhi-110053

View Certificate Send Message
  • Followers:
    2
  • Following:
    0
  • Total Articles:
    33

Recent Articles


व्यापार
व्यापार

कहीं थम गई सांसे क

कोरोना की विदाई
कोरोना की विदाई

धरा का छीना श्चिंग

नियति
नियति

नियति का न कोंई तोड़

बॉलीवुड
बॉलीवुड

आगे बढ़ने की चाह ! औ

नमन
नमन

दिलों में ग़म, आँखे

नेता जी की देखो !
नेता जी की देखो !

नेता जी की देखो ! क्

वाकिफ़
वाकिफ़

गम से वाकिफ़,खुशी स

दूरियाँ
दूरियाँ

दिल में प्यार दरमि

नफरत की फसल
नफरत की फसल

नफरत की फसल तुझको !

नजर भी आए
नजर भी आए

अपनी आँखों से गर दे

नूर
नूर

कवि की न तुम कल्पना

दर्द
दर्द

जिंदगी ने दर्द दिय

रसोई
रसोई

महंगाई का अजगर रसो

मन मोहक
मन मोहक

मन मोहक तेरा रूप नि

डाका
डाका

सपने दिखाकर हमको !

ख़्वाब
ख़्वाब

ज़िंदगी पर मत कर गर

ख़िताब
ख़िताब

शायर का ये जो, ख़िता

उड़ान
उड़ान

उम्र के आख़िरी पड़ा

हिचकिचाते हो
हिचकिचाते हो

सही को सही बताने मे

निजात
निजात

तक़लीफ़ ए ज़िंदगी

हकीकत
हकीकत

कलम में इतनी धार दे

चेहरा
चेहरा

नक़ाब से ढ़का चेहरा !

खेल है
खेल है

ज़मीन पर यह चलते है

आशिकी
आशिकी

कलम मेरी हो गई दिवा

याद
याद

दोस्त तेरी याद आई

पीने दे
पीने दे

मत रोक मुझे तू पीने

बेवफा
बेवफा

तकदीर ही जब बेवफा ह

यह कविता राबड़ी देवी के बिहार मुख्यमंत्री के शासन काल की हैं जो मैं अब आप लोगों के बीच में लेकर आ रहा हुँ जंगल राज
यह कविता राबड़ी देवी के बिहार मुख्यमंत्री के शासन काल की हैं जो मैं अब आप लोगों के बीच में लेकर आ रहा हुँ जंगल राज

कहीं अश्क कहीं क्र

प्रेम
प्रेम

प्रेम का तन से कैसा

माँ
माँ

माँ की ममता है अनमो

जिंदगी
जिंदगी

अंदाज ए ज़िंदगी बद

तीरगी
तीरगी

तीरगी मुबारक हमको !

कला
कला

ए शारदा माँ झूठ बोल