Poonam  Mishra

Poonam Mishra

मै पूनम मिश्रा उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर से हूं मैंने साहित्य लाइव प्रतियोगिता में भाग लिया था जिसमें मुझे तृतीय स्थान प्राप्त हुआ था मुझे इससे जुड़कर अत्यंत खुशी होती है और यहां पर और भी लेखों को पढ़ने और सुनने का मौका मिलता है जिसे मुझे कुछ सीखने को भी मिलता है मैंने इतिहास से m.a. एवं कला विषय से ग्रेजुएशन किया है इसके अलावा बी ऐड किया है मैं अपना खुद का कोचिंग इंस्टिट्यूट चलाती हूं और बच्चों को पढ़ाती हूं

Varanasi

View Certificate Send Message
  • Followers:
    4
  • Following:
    1
  • Total Articles:
    97

Recent Articles


ह्रदय से जाना
ह्रदय से जाना

आज तुम मेरे हृदय से

बता ना सके
बता ना सके

दर्द दिल का हम कुछ ऐ

पैगाम
पैगाम

दिल कहता है एक दिन म

रिश्तो का अहसास - रिश्ते ऐसे भी मिलते हैं जग में यहां
रिश्तो का अहसास - रिश्ते ऐसे भी मिलते हैं जग में यहां

रिश्ते ऐसे भी मिलत

कोट्स
कोट्स

वह जीवन क्या जीवन क

अधूरापन
अधूरापन

अधूरापन कुछ जिंद

मन की पीड़ा - मुझे कुछ कहना था
मन की पीड़ा - मुझे कुछ कहना था

मुझे कुछ कहना था या

गुड़िया
गुड़िया

एक छोटी सी गुड़िया

भरोसा कर लिया
भरोसा कर लिया

सच को ना मानकर झूठ

प्यार की अमानत
प्यार की अमानत

दिल ने लिखी एक इबाद

श्याम
श्याम

मुझे आप पर भरोसा है

जिंदगी का सफर
जिंदगी का सफर

छोटा सा है जिंदगी क

जिंदगी
जिंदगी

जिंदगी तुझसे मैंन

जिंदगी का सफर
जिंदगी का सफर

कभी भीड़ में कभी तन्

याद करोगे
याद करोगे

खुशी देकर जाऊंगी त

मस्त मगन रहना
मस्त मगन रहना

रंग बिरंगी उड़ती त

यादों के झरोखों से
यादों के झरोखों से

आज जिंदगी में पीछे

कुछ कह ना सके
कुछ कह ना सके

दर्द ऐसे दिए हैं जि

मैं
मैं

आज मैं हूं कल रहूं न

सच
सच

मैं आप सी नहीं यह अ

जिंदगी के पल
जिंदगी के पल

दिल में थी कई बातें

स्वीकार
स्वीकार

मैं रोज तुम्हें दि

स्वीकार
स्वीकार

स्वीकार कर लिया मै

शीशा
शीशा

आपके मुताबिक मैं अ

कौन
कौन

दिल के दर्द बताता ह

जमाना बदल रहा है
जमाना बदल रहा है

जमाना बदल रहा है क

जिंदगी को जीने के बहाने मिले हैं
जिंदगी को जीने के बहाने मिले हैं

जिंदगी को भी कोई वज

कुछ पल
कुछ पल

आज जी भर के बातें कर

पुराना इतिहास
पुराना इतिहास

चलिए हजारो साल पुर

नजरअंदाज
नजरअंदाज

मुझे देख कर नजर अंद

जिंदगी के सपने
जिंदगी के सपने

जिंदगी के सपने को स

रंग बिरंगी दुनिया
रंग बिरंगी दुनिया

इस रंग बदलती दुनिय

प्रीति
प्रीति

एक ही चाह में हम दोन

आपसे मिलकर
आपसे मिलकर

आपसे मिलकर ऐसा लगत

सफल एवं असफल व्यक्ति के बीच का अंतर
सफल एवं असफल व्यक्ति के बीच का अंतर

कामयाब बनने के लिए

रिश्ते
रिश्ते

मुझे भी फिक्र रहती

एहसास
एहसास

जाने कितने दर्द लि

आप
आप

आप कभी रूठते हैं तो

आप
आप

आप हो या कयामत ही आई

आप
आप

जब मैं चाहती थी आप

एक पल
एक पल

एक पल जो तुम्हारे स

दिल का हाल
दिल का हाल

परेशानियां तो मुझे

देश भक्ति
देश भक्ति

देशभक्त अपने देश क

शिकायत - कुछ सुनो तो सही कुछ कहो तो सही
शिकायत - कुछ सुनो तो सही कुछ कहो तो सही

कुछ सुनो तो सही कुछ

काश कोई इस सुने दिल में फिर से दीप जला जाए
काश कोई इस सुने दिल में फिर से दीप जला जाए

काश कोई इस सुने दिल

जीवनसाथी के प्रति कृतज्ञता
जीवनसाथी के प्रति कृतज्ञता

मैं गांवपहुंचता हू

जिंदगी जीने के अंदाज
जिंदगी जीने के अंदाज

जिंदगी तो सभी जी रह

याद आया
याद आया

याद आया हम तुमसे , ब

समय
समय

मुझे किताबें पढ़ने

गम - अपनी परेशानियों को किसी के सामने प्रदर्शित ना करना
गम - अपनी परेशानियों को किसी के सामने प्रदर्शित ना करना

गम को छुपा कर चेहरे

चल दिए
चल दिए

रात के भी अंधेरे बु

काली घटाएं
काली घटाएं

क्या पता जिंदगी मु

दर्द
दर्द

कुछ तो दर्द निकलने

चल सको तो चलो
चल सको तो चलो

राह में कठिनाइयां

दिल की ख्वाहिश
दिल की ख्वाहिश

दिल आज फिर कुछ गुन

अर्थ
अर्थ

बहुत कोशिशें की तु

रूठना मनाना
रूठना मनाना

आप कभी रूठते हैं तो

असफलता से संघर्ष करते हुए एक कविता
असफलता से संघर्ष करते हुए एक कविता

असफलता से कह दो कि

गीत
गीत

आज फिर मुझे कोई गी

छोड़ दिया
छोड़ दिया

समय कुछ ऐसा है कि ह

कोई मतलब नहीं
कोई मतलब नहीं

जब कटु शब्दों की वा

काश
काश

काश ,कोई इस सुने दिल

वफा
वफा

बहुत दूर तक जिंदगी

बचपन को फिर से जीने की तमन्ना
बचपन को फिर से जीने की तमन्ना

बचपन तुम फिर से वाप

मुलाकात
मुलाकात

क्यों धड़कने लगा ह

आलस्य छोड़िए
आलस्य छोड़िए

बहुत समय पहले की बा

काश दिल की कुछ ख्वाहिशें
काश दिल की कुछ ख्वाहिशें

काश कोई इस सुने दि

सफर
सफर

न जाने मन में कितनी

आज की रात
आज की रात

आज ही कुछ समय निकाल

देखकर कठिनाइयां अब दिल मेरा घबराता नहीं
देखकर कठिनाइयां अब दिल मेरा घबराता नहीं

देखकर कठिनाइयां अब

अंतर्मन - दुनिया में अंधेरा जब छाए
अंतर्मन - दुनिया में अंधेरा जब छाए

दुनिया में अंधेरा

जीवन के संघर्ष
जीवन के संघर्ष

जीवन के संघर्षों क

बसंत ऋतु
बसंत ऋतु

बसंत ऋतु आई है जीव

कैसे
कैसे

कैसे जो आप कह रहे ह

दर्द
दर्द

फिर से पुराने दर्द

जिंदगी से बिछड़ गए
जिंदगी से बिछड़ गए

जो जिंदगी मुझसे बि

देश भक्ति
देश भक्ति

विधा __कविता विश्व

कुछ खास बता
कुछ खास बता

कुछ नए जख्मों की जि

ज़िद
ज़िद

दर्द मुझे भी है तुम

शिकायत
शिकायत

सोचती हूं आपसे आपक

शिकायत
शिकायत

शिकायत दिल कहता

शिकायत
शिकायत

हर बात तेरी माने यह

ज़िद
ज़िद

दर्द मुझे भी है तुम

भूल जाओ
भूल जाओ

भूल जाओ बीत गई बाते

भूल जाओ
भूल जाओ

भूल गए हैं अतीत को ह

आपकी यादें
आपकी यादें

आपका जिक्र आपकी या

हम तुम
हम तुम

चलो आज हम तुम करें

सोच
सोच

जमाने से शिकायत है

जिंदगी
जिंदगी

परेशान हो जाते हैं

शक्तिशाली होने का महत्व
शक्तिशाली होने का महत्व

प्राचीन काल से ही स

जिंदगी से शिकायत
जिंदगी से शिकायत

कभी-कभी जिंदगी से ब

जिंदगी के कई सवाल जो जीने की वजह पूछे
जिंदगी के कई सवाल जो जीने की वजह पूछे

जिंदगी मुझसे मेरी

माँ
माँ

माँ इस अजनबी दुनि

मां
मां

एक छोटी सी गुड़िया

माँ
माँ

सुना है आज मातृ दिव

पिता
पिता

सपनों के राजकुमार

समय
समय

मुझे किताबें पढ़ने

कुछ कहना
कुछ कहना

अब मैं भी कुछ कहना च