अन्य रचनाएँ

नवीनतम अन्य रचनाएँ

had se bekabu hota hua parinda
had se bekabu hota hua parinda

हद से बेकाबू होता हुआ परिंदा होशो हवास खोता हुआ परिंदा अब हर डाल पर मौजूद है बस बैबस उदास रोता हुआ परिंदा खुआबों

* सुप्रभात *
* सुप्रभात *

* सुप्रभात * समय से पल कुछ , इस तरह से पिघला...! रात गुजर सी गई , धीरे से दिन निकला...! पर इस चीज को यहां , कोई नहीं पाए ब

बड़ी उदास है जिन्दगी ॥
बड़ी उदास है जिन्दगी ॥

दुनिया भर की खुशियां .उसके कदमों में वार दे ' बड़ी उदास है। जिन्दगी उसे थोड़ा सा प्यार दे ॥ मेरी पलको की नींद लेकर ख

आदतों से सुधरा तो सुधरता गया वो
आदतों से सुधरा तो सुधरता गया वो

आदतों से सुधरा तो सुधरता गया वो फिर जो उभरा तो उभरता गया वो इतनी सच्ची थी रूह उसकी कि जब जिस्म मे उतरा तो उतरता गया

मां तुम्हारा ख्याल जैसे
मां तुम्हारा ख्याल जैसे

मां तुम्हारा ख्याल जैसे मां तुम्हारा ख्याल जैसे चहेरे की मुस्कान मां तुम्हारा ख्याल जैसे नीम की छाव मां तुम्हार

हमें सीढ़ियों की ऊंचाई से मत गिराओ
हमें सीढ़ियों की ऊंचाई से मत गिराओ

हमें सीढ़ियों की ऊंचाई से मत गिराओ,हम फिर चढ़ जायेंगे, किसी को गिराना नहीं, उठाना सीखों जिंदगी में कुछ कर जाओगे।

सारा सुकून छीन लिया
सारा सुकून छीन लिया

सारा सुकून छीन लिया एक औरत का सरा सुकून छीन लिया जो कभी एक काम ना करती आज दिन भर काम कर के भी ताने खाती जो मां बाप के

दिल बड़ा होता है उनका
दिल बड़ा होता है उनका

दिल बड़ा होता है उनका, जो दूसरों के लिए कुछ करते हैं, जो अपनी खुशी की परवाह ना करके दूसरों को खुशी देते हैं।

अपने आंशु को चुरा लेते हैं
अपने आंशु को चुरा लेते हैं

अपने आंशु को चुरा लेते हैं, होंठों पर मुस्कान देते हैं, बिन मांगे ही हमें खुशियां देते हैं।

वक्त ,,,
वक्त ,,,

वक्त ,, वक्त हमसे कह रहा था , कल मैं आऊंगा । आज हमसे कह रहा था, कल मैं जाऊंगा । कर ले उपयोग मेरा , और कभी ना मैं आऊंगा

विश्वास का फूल
विश्वास का फूल

विश्वास का फूल ये वो फूल है जो एक बार दिलो में खिल जाए तो सारी बगिया महक जाए विश्वास का फूल ये वो फूल है जो जल्दी क

ख़ामोशी वो जवाब है
ख़ामोशी वो जवाब है

ख़ामोशी वो जवाब है जिससे हर सवाल का, जवाब दिया जा सकता हैं। खामोशी वो जवाब है जिससे कुछ ना बोल कर भी, सब कुछ बयां कि

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group