Mobile aur Ham - आरती सिंह

Mobile aur Ham     आरती सिंह     शायरी     हास्य-व्यंग     2021-09-22 10:06:09     Jokes, Hindi Jokes     33394        
Mobile aur Ham

   Aaj kal ke log accha to kya Bura bhi nahi sun paate,
         WO ISLIYA
 Kyouke hat me MOBILE or
Kaan mea hand free hote h,,,

Related Articles

हर कोई रोता है।
हर कोई रोता है।

नसीब का खेल अजीब होता है। कोई गरीबी से दुःखी तो कोई अपनी करनी पर रोता है।। बंजर जमी और पथरीले रास्ते . चलना भी दुर

ममता की मूरत
ममता की मूरत

ममता की मूरत हैं मां, बड़ी ही प्यारी भोली हैं मां, करूणा बरसाने वाली, कृपा करने वाली हैं मां, करती आंचल की छाया झोली

* सुप्रभात *
* सुप्रभात *

* सुप्रभात * समय से पल कुछ , इस तरह से पिघला...! रात गुजर सी गई , धीरे से दिन निकला...! पर इस चीज को यहां , कोई नहीं पाए ब


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group