ज़ालिम जामाना - Shiva Reddy

ज़ालिम जामाना     Shiva Reddy     शायरी     दुःखद     2021-09-22 10:34:04     जालिम ज़माना, ज़ालिम जामाना     23060        
ज़ालिम जामाना

➡️छोड़ दुंगा इस ज़ालिम जामाने को जो 
➡️हर पग पग पर याद दिलाए 
➡️कोई नहीं तेरा इस ज़माने में
➡️चला जाउंगा ऐसे शहर में 
➡️जहां पक्षी को भी प्रवेश निषेध हो ।।❤️😭😭😭😭😝😝😝😎😎😎😎😎😎🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳
                   रचनाकार:- लोकप्रिय शिवा
With YouTube channel 
 (Biology classes)

Related Articles

सही दिशा मे
सही दिशा मे

लौहा आग मे तापकर ; लौहार कि मार - बनाता है मनोहर , इन्सान से होता है ; इन्सानियत बढ़कर , जीवन की बेला ; देख लो सच्चाई की -

आज
आज

अब झूठे आरोपों से कोई सीता वनवास नहीं सहेगी भरी सभा में कोई द्रौपदी अब अपमान नहीं सहेगी कोई भी मेरा अब प्रेम में

Motivational story
Motivational story

: रात का समय था. चारों ओर घुप्प अंधेरा छाया हुआ था. केवल एक ही कमरा प्रकाशित था. वहाँ चार मोमबत्तियाँ जल रही थी. चारों


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group