Talash - Shashwat pathak

Talash     Shashwat pathak     शायरी     प्यार-महोब्बत     2021-09-22 10:22:47         14462        
Talash

Kya Zindagi Tu Kis Talash me hai
Pta kr...Tu kahi aas pass hi hai

Related Articles

गलती मेरी थी
गलती मेरी थी

दोष क्या लगाऊँ आपको, गलती तो मेरी थी... सपने मैंने सजाये और वो टूटे ,ये तो रब की मर्जी थी... आँख से आसु गिरते रहे और रात न

तेरा आना
तेरा आना

🥰🥰 ...... एक शाम आती है तेरी याद लेकर एक शाम जाती है तेरी याद देकर मुझे तो इंतजार है उस शाम का जो आए तुझे साथ लेकर

कुछ कहना
कुछ कहना

अब मैं भी कुछ कहना चाहती हूं अपने अंतर्मन की , अपने भावनाओं की , अपनी उलझनों की , अपनी परेशानियों को , अपनी दुविधा को ,


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group