"आने वाले कल की उम्मीद है हम युवा है हम" - Shreyansh kumar jain

"आने वाले कल की उम्मीद है हम युवा है हम"     Shreyansh kumar jain     कविताएँ     समाजिक     2021-09-22 11:45:05         7834        
"आने वाले कल की उम्मीद है हम युवा है हम"

आने वाले समय का चक्र है हम,
बुजुर्गों की उम्मीदों का सपना है हम,
अपनी धरोहर को बचाने का संकल्प है हम,
युवा है हम, युवा है हम।।
संस्कृति का जलता दीपक है हम,
आने वाली पीढ़ी का अनुभव है हम,
घर-घर की उम्मीदों का सपना है हम, 
युवा है हम, युवा है हम।।
देश की मर-माटी के लिए बहता खून है हम,
अपनों की रक्षा के लिए खून सा बहता दरिया है हम,
मान-मर्यादा को निभाने का फर्ज है हम,
युवा है हम, युवा है हम।।
आज हम युवा होंगे तो कल देश ओर सुरक्षित होगा,
बुजुर्गों का स्वपन हम युवाओं से सच होगा,
विश्व पटल पर भी कल हम युवाओं का राज होगा,
अखण्ड भारत का स्वपन हम युवाओं से सच होगा, 
आने वाला कल सुन्दर और सुरक्षित हम युवाओं होगा,
युवा है हम, युवा है हम।।

Related Articles

भारत की नारी
भारत की नारी

गूंजी थी सन् सत्तावन में जो फिर वह आवाज जगानी है भारत की नारी कमजोर नहीं दुर्गा है ,मर्दानी है चूड़ी हों कंगन ह

नखरे हजार...
नखरे हजार...

कभी नखरे हजार करके भी वो जिद पुरी नहीं हो पाती जो हम पूरे करना चाहते हैं, कभी नजरे सामने होकर के भी, वो नहीं देख पाती

Saroj kaswan
Saroj kaswan

रोटी कमाना बड़ी बात नहीं है रोटी परिवार के साथ खाना ✨ बड़ी बात है ✨


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group