प्यार कर - Ratan kirtaniya

प्यार कर     Ratan kirtaniya     गीत     प्यार-महोब्बत     2022-08-14 15:58:51     प्यार में लाज शर्म नहीं करना चाहिए ।     7077           

प्यार कर

लड़की :-
           उफ दिलकश नज़ारा
           सब भूला के सुन प्यारा
           ऐ राजा मूड बनाओ ताजा - ताजा
           सेज सजा के तुम से राजा
           आज प्यार करनी है खुल्लमखुल्ला
लड़का :-
           प्यार नहीं करना मुझे
खुल्लमखुल्ला
           लगता है लाज शर्म
           बेच खाऊँगी क्या धर्म
           बदनामी होगा हर गली महोल्ला
           प्यार नहीं करना मुझे
खुल्लमखुल्ला
लड़की :-
          आज प्यार करूंगी खुल्लमखुल्ला
          रात है नशीला
          शुरू करो प्यार का सिलसिला
          क्या मौका मिला है
          तुम से यहीं गिला 
          ऐसी मौका न मिलेगा दोबारा
          आँख मारके कर दे इशारा
          समझ के दिल के ज़ज्बात
         आज रात दो मेरे साथ
          तू मेरा - मैं हो के तेरा
         खुल्लमखुल्ला प्यार होगा तेरा -
मेरा
लड़का :-
           प्यार नहीं सीखा हूँ
           तेरी जैसी बेशर्मी नहीं देखा हूँ
           छोड़ दे
           कैसे कहूं तुझे
           प्यार नहीं करना मुझे
           बदनामी से लगता है डर
           कैसे करूँगा तुम से प्यार
लड़की :-
           ओ राजा लाज शर्म की पर्दा हटा के
           क्या मौका मिला है
           खुल्लमखुल्ला प्यार दे दे
           अंधेरे में आएगा मज़ा बल्प बुझा के
           दिल में प्यार के बल्प जला के
           चार दीवारों की बीच की बात
           जो होगी आज की रात
           बन्द कमरे में रहेंगी सारी बात
           आज की रात
           गुज़र ले मेरी साथ
           ओ राजा प्यार से सेज सजा
           दूर क्यों खड़ा है पास आजा
           ले ले मज़ा , रात को दे सजा
           खुल्लमखुल्ला प्यार ताजा - ताजा
लड़का :-
           क्या दिलशक नज़ारा है
           मैं तेरा तू मेरा हैं
           आज है दिलकश मौसम
           पीला के होठों से जाम
            क्या मौका मिला है तेरी कसम
           आज की शाम तेरी नाम
           सुन के तेरी अर्जी 
           जग उठा दिल की मर्जी
           तेरा राजा सेज सजा के ताजा - ताजा 
           मैं प्यार करूँगा तुम से
खुल्लमखुल्ला

                      रतन किर्तनिया
                         छत्तीसगढ़
                      जिला :- काँकेर
                         पखांजुर
                       मो 9343698231

Related Articles

किसी को दिखें ना
Mandeep Gill Dharak
दिल पर लगी चोट किसी को दिखें ना, अन्दर लगा जो रोग किसी को दिखें ना। बाहरो देख के अंदाजा लगाना औखा है, के दिल अन्दरल
8732
Date:
14-08-2022
Time:
15:33
पलाश के फूल
Ashok Kumar Yadav
कविता- पलाश के फूल बसंत ऋतु में खिल गया ब्रह्मावृक्ष, लाल,सफेद और पीले रंग के फूल। खेतों के मेढ़ में जंगल की आग जैस
58739
Date:
14-08-2022
Time:
17:30
तेरी अदा पर मरते हैं कान्हा
Chanchal chauhan
तेरी अदा पर मरते हैं कान्हा, तेरी लटा में उलझ जाते हैं कान्हा, तेरे नैनों में हम खो जाते हैं कान्हा। जय श्री राधे कृ
3385
Date:
14-08-2022
Time:
11:36
Please login your account to post comment here!