पछतावा - रजनीश राज

पछतावा     रजनीश राज     शायरी     प्यार-महोब्बत     2022-10-06 03:41:31     प्यार में अक्सर लोग धोखा देते हैं     4760        5.0/5 (1)    

पछतावा

अपना ईमेज ऐसा रखो कोई तुम्हे अगर धोखा
दे, तो उस धोके का उन्हें पछतावा मिले|

Related Articles

शिकायत
Poonam Mishra
सोचती हूं आपसे आपकी ही शिकायत कर दू मन में उठते हजारों सवालों के जवाब ले लूं मैं अपने दिल के सभी हालात कह दूं चु
24031
Date:
06-10-2022
Time:
05:16
हसीं
Ranjana sharma
हसीं रात है क्या कहे क्या बात है ऐ जो मुलाकात है बस तेरे साथ है। धन्यवाद
68136
Date:
06-10-2022
Time:
03:41
Writer by Iqrar Ali, मोहब्बत शायरी दिल तोड़
Iqrar Ali (आई क्यों)
जो दोस्त मेरी बिस्तर पर बिन बुलाए आ जाते थे आज बही दोस्त को मेरी मैयत पर मिट्टी देने के लिए ऐलान कर के बोलानी पड़ रह
254463
Date:
06-10-2022
Time:
05:26
Please login your account to post comment here!
रजनीश राज     rated 5     on 2022-03-05 16:11:49
 अच्छी हैं