कोरोना वायरस - आता है कभी जाता है - Prerna sharma

कोरोना वायरस - आता है कभी जाता है     Prerna sharma     कविताएँ     समाजिक     2022-08-14 16:26:03     # कोरोनावायरस     28541        5.0/5 (1)    

कोरोना वायरस - आता है कभी जाता है

 
 आता है कभी जाता है, 
 हम सब को यह डर आता है, 
  ले लेता है सभी की जान,
 कहीं नहीं मिलता इसका नामोनिशान, 
 घर पर रहकर ही करो उपचार,
 बाहर निकलो बार-बार, 
 मास्को हर वक्त लगाएं,
 हर प्राणी से दूरी बनाएं,
 सभी को करता है निराश,
 ऐसा है इसका इलाज ।

 लेखिका प्रेरणा शर्मा

Related Articles

सावरा सबसे निराला
Chanchal chauhan
चंदन का तिलक,मोर मुकुट, तिरछी निगाहें, हाथों में वंशी, गले में मोतियन माला, सब पर जादू डाले कृष्ण गोपाला।
43326
Date:
14-08-2022
Time:
18:14
Writer by iqrar Ali, मोहब्बत शायरी दिल तोड़
Iqrar Ali (आई क्यों )
अब इंसान का कोई इज्जत नही रहा,क्योंकि अब इंसानों से ज्यादा पैसों का इज्जत होने लगा है।
74177
Date:
14-08-2022
Time:
18:22
लकड़हारा
Karan Singh
*लकड़हारा* 〰️〰️〰️〰️🌀〰️〰️〰️〰️~~~~~~ प्रस्तुतकर्ता-सपनों का सौदागर....करण सिंह ★★★★★★★★★★★★★★★★ 👇👇👇 सुनसान जंगल म
5582
Date:
14-08-2022
Time:
13:22
Please login your account to post comment here!
Prerna sharma     rated 5     on 2021-11-10 18:55:10
 Nic e