कहानियाँ

नवीनतम कहानियाँ

मिट्ठू की कोशिश
मिट्ठू की कोशिश

मिट्ठू एक बहुत प्यारा तोता था।मदन के बगीचे में रहता था।उसकी मदन से अच्छी दोस्ती हो गई थी।वे दोनों एक-दूसरे के बहुत

प्यार ,
प्यार ,

दीपू , अनु से बहुत प्यार करता था. दीपू ने अनु को एक दिन प्रपोज़ किया.. अनु :- बोलती हे जितनी तेरी एक महीने की कमाई है, उतन

मन के धागे
मन के धागे

रोका था मन के धागों को बड़ी सहजता से उलझने से एक विश्वास ही था साथ मेरे खुदके हौसलों को परखने से पंखों को समेटकर रक

हमारी राष्ट्रभाषा हिन्दी
हमारी राष्ट्रभाषा हिन्दी

हमारी राष्ट्रभाषा हिंदी एक बार एक शहर में प्रतियोगिता हो रही थी। वही शहर में रहने वाले कुछ लोग इस प्रतियोगिता

ज्ञानी कौन है ?
ज्ञानी कौन है ?

ज्ञानी कौन है? ये प्रश्न हमेशा से ही बुद्धिजीवी वर्ग के लोगो मे उठता रहा है। एवं बुद्धिजीवी वर्गके लोग ज्ञान क

Kumata
Kumata

Karni hai chhote se bacche thi jiske pita ka dehant ho gaya aur uske bad uski man ne bhi uska naam chhod Diya aur uska naam tha Rahul Pandit aur vah Mathura mein rahata tha uske bad se usne Apne din aise hi khate jab kahin se khana mil jata to kha leta nahin to aise hi so jata aur uska jo ghar tha v

प्यार और साजिश
प्यार और साजिश

एक शहर के पास छोटा सा कस्बा था जिसमें लगभग 250 परिवार रहा करते थे ! जिनमे से एक परिवार था जिनमें एक किसान के एक ल

अमीरी और गरीबी की सच्चाई
अमीरी और गरीबी की सच्चाई

लड़के ने लिफाफा फेंक कर निराश मन से आगे बढ़ा और तभी उसकी नजर एक पेड़ के नीचे बैठे आदमी पर पड़ी। वह लड़का थककर उस पेड

Jamana dekh le rutba mere masum e millat ka
Jamana dekh le rutba mere masum e millat ka

*منقبت مرشد بر حق حضور معصوم ملت مفتی اعظم پیلی بھیت شریف* زمانہ دیکھ لے رتبہ مرے معصوم ملت کا ہے بجتا ہر طرف ڈنکا مرے معصوم ملت کا خدا نے میرے مرشد کو ہے ایسا دبدبہ

राजेश
राजेश

प्रारम्भ की कहानी बहुत पुरानी बात है। धारा नगरी में गंधर्वसेना नाम का एक राजा राज करते थे। उसके चार रानियाँ थीं।

गरीब
गरीब

लड़के ने लिफाफा फेंक कर निराश मन से आगे बढ़ा और तभी उसकी नजर एक पेड़ के नीचे बैठे आदमी पर पड़ी। वह लड़का थककर उस पेड

धीरे धीरे दोस्त बन गया
धीरे धीरे दोस्त बन गया

कुछ दिन पहले कि बात है में अपनी छत की बालकनी पर बैठा था और पास से बच्चो को देख रहा था की वो कैसे हमारे बचपन की तरह खेल र

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group