हास्य-व्यंग रचनाएँ

नवीनतम हास्य-व्यंग रचनाएँ

गरमागरम में क्या है?
गरमागरम में क्या है?

गरमागरम शराबी - गरम में क्या है? वेटर- चाउमीन है। शराबी- और गरम में, वेटर- सूप है । शराबी - और गरम में । वेटर - उबलता

दारू का पहाड़ा
दारू का पहाड़ा

दारू एकम दारू - महफिल हुई चालू दारू दुनी गिलास - मजा आएगा खास दारू तिया वाईन - टेस्ट एकदम फाइन दारू चौके बियर

बाप चौकीदार,बाप भिखारी
बाप चौकीदार,बाप भिखारी

बस कंडक्टर ने एक बच्चे से पूछा - तुम हर रोज दरवाजे के पास ही खड़े रहते हो। तुम्हारा बाप चौकीदार है क्या ? बच्चा बहु

प्यार में गुड़ाखू करना।
प्यार में गुड़ाखू करना।

सुना है इश्क में कुत्ते भी आचार खाते है। वो पागल लोग है जो प्यार में गुड़ाखू करते है। मोहल्ले में हमारे एक आदमी आश

टमाटर खाओ ,कमाकर खाओ
टमाटर खाओ ,कमाकर खाओ

एक भिखारी दोनो हाथ में एक एक कटोरा लेकर भीख मांग रहा था । मैंने एक कटोरे में 1 रूपये डाला और पूछा यह दूसरा कटोरा कि

मजा ही कुछ और है।
मजा ही कुछ और है।

मजा ही कुछ और है। रेगिस्तान में उट देखने का, अमेज़न में झील झरने का । समसान घाट में मरने का, मोबाईल में डायरेक्ट झू

बड़ा ही महत्व है,
बड़ा ही महत्व है,

बड़ा ही महत्व है है ताला में चाबी का ,भय्या में भाभी का, मामा में मामी का, तो टिवी में बिवी का, बड़ा ही महत्व है,,,,, दे

चुनाव आ गया chunaav aa gaya
चुनाव आ गया chunaav aa gaya

चुनाव आ गया निगाहे प्यार के रंग में सराबोर है | कोई गरीब न हो जमाने से मारा संग खड़े बड़जोर है|| जागते में देखा है मैं

जीना इसी का नाम है.........😃😃
जीना इसी का नाम है.........😃😃

जीना इसी का नाम है.........😃😃 मेघा एक सरकारी दफ्तर में टाइपिस्ट थी । उसके हाथों की उंगलियां जब कंप्यूटर के "की बोर

चुनाव आ गया
चुनाव आ गया

चुनाव आ गया निगाहे प्यार के रंग में सराबोर है | कोई गरीब न हो जमाने से मारा संग खड़े बड़जोर है|| जागते में देखा है मैंन

टीचर व स्टूडेंट(teacher and student)
टीचर व स्टूडेंट(teacher and student)

स्टुडेंट- सर आज सुबह-सुबह मैं घर से बाहर जा रहा था अचानक गिर गया वो भी सुखे में टीचर- टीचर ने कहाँ बेटा धरती का गुत्व

शेरनी - पूँछा घरवाली ने जो मैं बहुत देर से आया
शेरनी - पूँछा घरवाली ने जो मैं बहुत देर से आया

पूँछा घरवाली ने जो मैं बहुत देर से आया मुझे बताओ समय अधिक यह तुमने कहाँ लगाया मेरे मन में अगले पल एक ख़याल उभर आया ज

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group