तेरा प्यार इबादत है । - Shakuntala Sharma

तेरा प्यार इबादत है ।     Shakuntala Sharma     शायरी     प्यार-महोब्बत     2021-09-22 10:58:12     # तेरा प्यार# इबादत# जनत# धड़कन# घड़ी# तेरा प्यार शकुन की घडी है।     25286        
तेरा प्यार इबादत है ।

तेरा प्यार इबादत है ' तेरी सुरत खुदा की मुरत जैसी लगती है ।  
तेरे दिल से मेरे दिल तक तेरी धडकनो की आहटें 
मेरे कानो में मधुर मिलन की रात जैसी त्यगती है। 
तेरे गली और शहर की मिट्टी को सजदे करती हु |
मुझे तेरे कदमों की धुल जनत जैसी लगती है। I
खुदा भी जमी पर उतर आये तो तुझे ही चाहेगे दुआओं में तुझे पाने की मेरी नीमत सी लगती हैं ।
 ""'''""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""
शकुन्तला शर्मा ।

Related Articles

Har na manege hum
Har na manege hum

Ye sansh h jab tak tere naam in labon par rahega, Jab tak hai jan mai jan har na manege hum,tera pyaar humesha is dil mai rahega.

चुपके से वार करना नहीं आता
चुपके से वार करना नहीं आता

चुपके से वार करना हमें नहीं आता, झूठ मूट का हाल चाल पूछना हमें नहीं आता, दिल में नफरत होंठों पर मुस्कान लाना हमें नह

हमने की थी दोस्ती तुम से
हमने की थी दोस्ती तुम से

हमने की थी दोस्ती तुमसे, थोड़ा गम हमारा कम हो जाए, ग़म क्या कम होता, हमें अंधेरे कुएं में छोड़ आये।


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group

तेरा प्यार इबादत है । - Shakuntala Sharma | शायरी | Sahity Live

तेरा प्यार इबादत है । - Shakuntala Sharma

तेरा प्यार इबादत है ।     Shakuntala Sharma     शायरी     प्यार-महोब्बत     2021-09-22 10:58:12     # तेरा प्यार# इबादत# जनत# धड़कन# घड़ी# तेरा प्यार शकुन की घडी है।     25286        
तेरा प्यार इबादत है ।

तेरा प्यार इबादत है ' तेरी सुरत खुदा की मुरत जैसी लगती है ।  
तेरे दिल से मेरे दिल तक तेरी धडकनो की आहटें 
मेरे कानो में मधुर मिलन की रात जैसी त्यगती है। 
तेरे गली और शहर की मिट्टी को सजदे करती हु |
मुझे तेरे कदमों की धुल जनत जैसी लगती है। I
खुदा भी जमी पर उतर आये तो तुझे ही चाहेगे दुआओं में तुझे पाने की मेरी नीमत सी लगती हैं ।
 ""'''""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""
शकुन्तला शर्मा ।

Related Articles

तेरी चाहत ।
तेरी चाहत ।

तेरी चाहतो के हाथों हारी हु । वर्ना दुनिया में क्या रखा है । तेरी उल्फत के सिवा । तुझे चाहा तुझे ही पुजते रहें । अग

नौका पार लगाए कौन
नौका पार लगाए कौन

नौका पार लगाए कौन प्रश्न पूछते प्रश्न खड़े हैं उत्तर साधे बैठे मौन । भँवरों के हैं नाविक सारे नौका पार लगाए कौन ?

आदमी ने केे कमाया
आदमी ने केे कमाया

State bank of india नहीं बताता आदमी ने केे कमाया समसान आली भीड़ बताया कर


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group

तेरा प्यार इबादत है । - Shakuntala Sharma | शायरी | Sahity Live

तेरा प्यार इबादत है । - Shakuntala Sharma

तेरा प्यार इबादत है ।     Shakuntala Sharma     शायरी     प्यार-महोब्बत     2021-09-22 10:58:12     # इल्लाम# सजदे# मौसम की तरह# जन्नत#     25286        
तेरा प्यार इबादत है ।

लाख इल्जाम लगा मगर ' वेवफा हम नही |
सजदे करते कदमो की धुल को तेरे हम ।
तेरा दीदार भी हमारे लिये कम नही ॥
 हम तो मर कर भी तुझे चाहेगे इस खुदा से पहले 
बदलते मौसमकी तरह बदलने वाले इंसा हम नही 
 कयामत से कयामत तक मेरी रूह मे तू रहेगी ।
जन्नत तेरा मिलन दुसरा दिल का अरमान नही ॥ .
मुबारक हो तुझे तेरे महल और धौलते सारी ।
खुदा तू मिल जाये तो फकीर भी हम नही ॥
""""""""'"""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""""
शकुन्तला शर्मा

Related Articles

साहित्य लाइव का धन्यवाद
साहित्य लाइव का धन्यवाद

चलाकर साहित्य लाइव का चक्र, सब रचनाकार को एक गूंथी में बांध रखा है,उनके भविष्य का विकास करने के लिए योजना का प्रचार

राजेश
राजेश

एक बार रामनिवास शेख चिल्ली अपने मित्र के साथ जंगल में लकड़ियाँ कांटने गए। एक बड़ा सा पेड़ देख कर वह दोनों दोस्त उस पर

भारत की नारी
भारत की नारी

गूंजी थी सन् सत्तावन में जो फिर वह आवाज जगानी है भारत की नारी कमजोर नहीं दुर्गा है ,मर्दानी है चूड़ी हों कंगन ह


Please login your account to post comment here!

© 2021 | All rights reserved by Sahity Live® | Powered by DishaLive Group