नवीनतम धार्मिक रचनाएँ

दशहरा
Pinky Kumar
जैसा की हम सब जानते है। भारत अनेक धर्मों का देश होने के साथ - साथ यहाँ पर विभिन्न प्रकार के त्यौहार मनाये जाते है। औ
37
Date:
06-10-2022
Time:
05:56
क्यो मे झूठा हो गया
Raj Ashok
क्यो, मै झूठा हो गया रे तेरे साँचे , दरबार मे आके, क्या, पालिया री मैने मेरी मँया तेरी महिमा गाके दर ब दर भटक रहा हू
22
Date:
05-10-2022
Time:
23:13
माता के दरबार
Raj Ashok
चारो घाम तेरा ही जश्न नाम तेरे गुण गाते है! माता के दरबार चले हम माता दरबार चले हम.... उच्चे-2 पहाडो तेरा.....
35
Date:
06-10-2022
Time:
04:48
दुवां
Gayatri yadav
वक्त गुजरे मंजिल रही खाली खुदा तुही मेरा पेगांम, यू हम ठेहरे मुसाफिर तेरे
42
Date:
06-10-2022
Time:
05:52
धनवान सेठ ( भाग -२)
Ranjana sharma
देखते ही देखते वह धनवान सेठ की सारी धन उससे छीन ली जाती अब उसके पास भी कुछ नहीं था ।वो भी भिखारी बनकर यहां - वहां भीख म
4279
Date:
06-10-2022
Time:
05:20
धनवान सेठ ( भाग -१)
Ranjana sharma
रामपुर गांव में एक धनवान सेठ रहता था ,वह बहुत धनवान था।वह लोगो को खूब दान - वान करता था पर उसमें एक खूबी थी कि वह उसी को
4291
Date:
06-10-2022
Time:
05:46
अम्बे हम सब तेरे सहारे
akhilesh Shrivastava
*अम्बे हम सब तेरे सहारे* अम्बे जय जय जय जगदम्बे हम सब हैं तेरे सहारे अम्बे ... महाकाली दुर्गा माता जय अम्बे नाम तुम
84016
Date:
06-10-2022
Time:
04:35
कोने कोने में
Ranjana sharma
मन के कोने कोने में तू ही बसा मेरी मैया तू आ जाए मेरे घर में मेरे भाग्य जगे मेरी मैया। धन्यवाद
83997
Date:
06-10-2022
Time:
04:19
शीर्षक (माँ दुर्गा)
SACHIN KUMAR SONKER
शीर्षक (माँ दुर्गा) मेरे अल्फ़ाज़ (सचिन कुमार सोनकर) तू ही दुर्गा तू ही अम्बे तू ही वैष्णो रानी है। तुझमे ही ये संसार स
83902
Date:
06-10-2022
Time:
00:14
मेरे नैनों की प्यास बुझा दे मां
Chanchal chauhan
मेरे नैनों की प्यास बुझा दो मां, अपना सुंदर मुखड़ा दिखा दो मां, हम पर भी कर दो कृपा मां, भक्तों को दर्श दिखा दो मां। ज
83892
Date:
06-10-2022
Time:
04:19
अपने दर्शन देना मां
Chanchal chauhan
अपने दर्शन देना मां, मेरी अंखियों की प्यास बुझाना मां, अपने सुंदर आगमन से, मेरे मन की बगिया महकाना मां। जय मां लक्ष
83897
Date:
06-10-2022
Time:
03:51
मैया का मुखड़ा बड़ा प्यारा लगता है
Chanchal chauhan
मैया का मुखड़ा बड़ा प्यारा लगता है, चांद चांदनी सा उजला लगता है, मां की चुंदड़ी सितारों सी चमके, मां का टीका गजब लगत
82096
Date:
06-10-2022
Time:
03:43