नवीनतम रचनाएँ

मैं समय हूँ
Anany shukla
मैं समय हूंँ। मैं हूं सबके पास, पर किसी का भी नहीं हूंँ मैं समय हूंँ। मैं वही हूंँ, जिसने राजा को बनवास दिला डाला मै
86997
Date:
06-10-2022
Time:
06:01
बेशक
Raj Ashok
बेशक खुदर्गज थे ! बहुत वो पर हमें खुद से ओर खुदा ज्यादा माना ! काश ! तब ये सच हमने समझा होता ! तो आज ......
31
Date:
06-10-2022
Time:
06:10
जिंदगी से तू ना भाग जिंदगी तुझे बुलाती है
Kirti singh
जिंदगी से तू ना भाग जिंदगी तुझे बुलाती है परिस्थितियों मे तू उलझा क्यों परिस्थितियों से भागता है क्यों उठ जाग परिस
87012
Date:
06-10-2022
Time:
05:46
बेटी के विदाई के बाद
Kirti singh
जग लड़की की विदाई हो जाती है तब एक वक्त ऐसा भी आता है कि उसके घर का गेट दुनिया भर के लिए खुला रहता है लेकिन उसके लिए खु
87010
Date:
06-10-2022
Time:
05:34
कटु सत्य
Kirti singh
जब आप ऊंचाइयों का शिकार चढ़ते हो तब दूर के लोग ताली बजाते हैं और पास के लोग आपके गिरने का प्रार्थना करते हैं और जब आप
87002
Date:
06-10-2022
Time:
05:56
कटु सत्य
Kirti singh
समाज में तो लोग हैसियत देखकर चरित्र प्रमाण पत्र दिया करते हैं अक्सर हैसियत वालों का चरित्र प्रमाण पत्र बिल्कुल सा
86998
Date:
06-10-2022
Time:
03:49
कटु सत्य
Kirti singh
जब हम गरीब होते हैं तो हमारे अंदर लोग लाख बुराइयां गिनाते हैं और जब हम अमीर हो जाते हैं तब लोग गिनती भूल जाते हैं और ह
87001
Date:
06-10-2022
Time:
05:57
मेरा दिल
Raj Ashok singh
मेरे पास नहीं, ये तेरा दिल तु दुनिया से कह दे ! बस ,मै तो तेरा दिवाना मुझे दिवाना ही रहने दे
52
Date:
06-10-2022
Time:
05:55
ह्दयगम
Raj Ashok singh
खामोश थे ,शब्द उसके छाई थी! उदासी ,सी पास बैठ थे! हम भी, पर उसे ,पता नहीं ! ये क्या कोई दर्द था , या दिल्लगी तब से हम भी,
87012
Date:
06-10-2022
Time:
05:46
वो
Raj Ashok
वो चलके आई थी, हाँ ,हाँ वो चलके आई थी , पास मेरे ...पर कुछ कह ना सकी हाँ शायद , वो कुछ कह ना क्यो , के मेरी माँ मेरे साथ म
28
Date:
06-10-2022
Time:
05:18
दशहरा
Pinky Kumar
जैसा की हम सब जानते है। भारत अनेक धर्मों का देश होने के साथ - साथ यहाँ पर विभिन्न प्रकार के त्यौहार मनाये जाते है। औ
37
Date:
06-10-2022
Time:
05:56
वरिष्ठ नागरिक का जीवन
चंद्र प्रकाश
वरिष्ठ नागरिक जीवन गति उदगार बताने, याद दिलाने, , ठहरी जिन्दगी को गति देने आया हूँ II आँखों की लुप्त हुई
87004
Date:
06-10-2022
Time:
05:41