इश्क़ की खामोशी - Yashraj singh

इश्क़ की खामोशी     Yashraj singh     शायरी     प्यार-महोब्बत     2022-12-01 12:22:18     इश्क़ की खामोशी     2           

इश्क़ की खामोशी

ये तेरी खामोशी है मेरे इश्क की पहचान
      अब ओर ना तड़पा मेरी जान
करले अपने इश्क़ का ऐलान
💖💖💖💖💖__ _

Related Articles

Writer by iqrar Ali, मोहब्बत शायरी दिल तोड़
Iqrar Ali (आई क्यों)
आज हर एक बंदा होसियार हो गया है,लेकिन जब जरूरत हो तो लोग गूंगा बन जाते है।
10622
Date:
01-12-2022
Time:
14:19
अपने आंशु को चुरा लेते हैं
Chanchal chauhan
अपने आंशु को चुरा लेते हैं, होंठों पर मुस्कान देते हैं, बिन मांगे ही हमें खुशियां देते हैं।
28379
Date:
01-12-2022
Time:
13:15
सफलता
RAKESH GURJAR
हर चुनौती से दो हाथ मेने किए आंधियों में जलाए है बुझते दिए अभी सफलता मिली नही है मुझे बीच राह में मंजिल कैसे छोड़ द
18675
Date:
01-12-2022
Time:
10:28
Please login your account to post comment here!